ताज़ा खबरे
Home / ताज़ा खबरे / सीआरपीएफ 355 नव आरक्षियों का दीक्षांत व शपथ ग्रहण समारोह संपन्न

सीआरपीएफ 355 नव आरक्षियों का दीक्षांत व शपथ ग्रहण समारोह संपन्न

पुणे- पुणे के तलेगांव परिसर में आज 355 नव आरक्षियों का भव्य दीक्षांत एवं शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन किया गया था इस भव्य समारोह को देखने के लिए लगभग दो हजार से ज्यादा दर्शक शामिल हुए थे इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पुलीस उपमहानिरीक्षक श्री संदीप दत्ता उपस्थित थे।

 

नव आरोपियों के शपथ ग्रहण की कार्रवाई द्वितीय कमान अधिकारी श्री राजू नायक द्वारा की गई तदोपरांत नवा अंखियों के उत्कृष्ट मार्चिंग समूह द्वारा मंच पर उपस्थित मुख्य अतिथि को सलामी दी गई। शानदार परेड के प्रदर्शन की कमान ग्रुप केमदर केरिपुबल के सहायक कमांडेंट श्री गणेश वालुंज ने संभाली थी। मुख्य अतिथि द्वारा पुरस्कार देकर उत्कृष्ट नव आरक्षियों को पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया।

मुख्य अतिथि द्वारा नव आरक्षीयों द्वारा कठिन परिश्रम एवं दीक्षांत परेड समारोह की अत्यंत प्रशंसा एवं सराहना की गई। तदोपरांत नव आरक्षियों के दीक्षांत समारोह के अवसर पर मुख्य अतिथि महोदय को अतिरिक्त प्रशिक्षण केंद्र के प्राचार्य द्वारा स्मृति चिन्ह भेंट दी गई। इन कार्यक्रम में छात्रों ने एरोबिक पिटी जैसे प्रदर्शन दिखाया। 44 सप्ताह के कड़े प्रशिक्षण के बाद यह जवान अब देश सेवा में अपने आप को समर्पण करने के लिए तैयार है। साथ ही पासिंग आउट परेड के इस स्वर्णिम अवसर पर मुख्य अतिथि महोदय ने आई आई एम द्वारा प्रकाशित 2021 पुस्तिका का विमोचन किया।

 

इस अवसर पर मुख्य अतिथि द्वारा आरोपियों को कैलिप्पो बल के गौरवशाली इतिहास उसे बनाए रखने हेतु अथक परिश्रम व लगन के महत्व को बताया गया। मुख्य अतिथि ने अपने संक्षिप्त भाषण में कहा कि केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल 27 जुलाई 1939 को क्रॉउन रिप्रेजेंटेटिव पुलिस के रूप में अस्तित्व में आया जो 28 दिसंबर 1949 को सीआरपीएफ अधिनियम के लागू होने पर केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल बन गया। 19 मार्च 1950 को इस महान बल के रिजर्व पुलिस बल को ध्वज यानी प्रेसिडेंट कलर्स सरदार वल्लभ भाई पटेल द्वारा प्रदान किया गया। केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल देश का इकलौता ऐसा अर्धसैनिक बल है जिसकी स्थापना आजादी से पहले हो गई थी 24 फरवरी 1955 को केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल नियमावली केंद्र सरकार द्वारा पास किया गया।

 

1939 में जीरो एक बटालियन से प्रारंभ होकर यह बल 246 बटालियनों,43 ग्रुप केंद्रों,22 प्रशिक्षण संस्थानों,05 सी. डब्लू. एस., 07 ए डब्ल्यू एस,100 बिस्तर वाले 04 संयुक्त अस्पताल और 50 विस्तर वाकई 18 संयुक्त अस्पतालों एवं 06 फील्ड अस्पतालों के गठन से बना हुआ एक बड़ा संगठन है।

Check Also

मानसून में देरी,आयुक्त ने दिए पानी कटौति के संकेत

पिंपरी- पिंपरी चिंचवड शहर के नागरिकों को पहले से ही एक दिन के बाद पानी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *