ताज़ा खबरे
Home / ताज़ा खबरे / आवासीय फ्लैटों समेत 153 संपत्तियां सील,3.50 करोड़ की वसूली

आवासीय फ्लैटों समेत 153 संपत्तियां सील,3.50 करोड़ की वसूली

अब तक 40 रिहायशी फ्लैट सील,जब्ती बचाओ, टैक्स चुकाओ-सहायक आयुक्त 

पिंपरी- पिंपरी-चिंचवड़ मनपा के कराधान एवं कर संग्रहण विभाग की ओर से बकाएदारों के खिलाफ सीधी जब्ती की कार्रवाई की जा रही है। पालिका द्वारा अब तक 40 आवासीय फ्लैटों सहित 153 गैर आवासीय संपत्तियों को सील किया जा चुका है। संपत्ति को सील करते ही 58 संपत्ति मालिकों ने 3 करोड़ 58 लाख 71 हजार 339 रुपये कर का भुगतान कर दिया है। इसलिए बकाएदारों को बकाया कर का भुगतान कर पालिका का सहयोग करना चाहिए। साथ ही सहायक आयुक्त नीलेश देशमुख ने अपील की है कि जब्ती की कार्रवाई से संपत्ति धारक बचें।

 

कराधान एवं कर संग्रहण विभाग के सहायक आयुक्त देशमुख ने 50 हजार से अधिक के बकाया 26 हजार 760 लोगों,पांच लाख से अधिक के बकाया 1 हजार 361 पेशेवरों और 3 हजार 850 ऐसे लोगों को जब्ती नोटिस दिया है,31 हजार 971 आय धारकों को नोटिस भेजा गया। इन संपत्तियों के मालिकों पर 631 करोड़ रुपये का कर बकाया है।

 

पिंपरी-चिंचवड़ शहर में 5 लाख 79 हजार की आय दर्ज है। चालू वित्त वर्ष में अब तक करीब 380 करोड़ रुपये का टैक्स चुकाया जा चुका है। कराधान और कर संग्रह विभाग द्वारा वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए 1000 करोड़ रुपये निर्धारित किए गए हैं। इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए कम से कम 85 प्रतिशत संपत्ति पर कर लगाया जाना चाहिए। इस समग्र स्थिति को देखते हुए यह तय है कि शेष साढ़े पांच माह में जब्ती अभियान और तेज हो जाएगा। एक बार जब्त होने के बाद, संपत्ति के मालिकों को लगभग पंद्रह प्रतिशत अतिरिक्त राशि का भुगतान करना पड़ता है जैसे वारंट शुल्क, जुर्माना। इसलिए जब्ती कार्रवाई होने से पहले कर का भुगतान करना नागरिकों के लिए अधिक फायदेमंद है।

 

आयुक्त शेखर सिंह की कार्यवाही पर पैनी नजर

जब्ती की कार्यवाही की निगरानी स्वयं आयुक्त एवं प्रशासक शेखर सिंह कर रहे हैं। अतिरिक्त आयुक्त प्रदीप जंभाले-पाटिल ने हाल ही में सभी संभागीय अधिकारियों और प्रशासन के अधिकारियों के साथ बैठक की है। उन्होंने जब्ती की सारी प्लानिंग कराधान एवं कर संग्रहण विभाग को कर दी है। इन सभी गतिविधियों पर कमिश्नर सिंह की पैनी नजर है। पालिका इस साल के लक्ष्य को किसी भी हाल में पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध है।

 

सहायक आयुक्त नीलेश देशमुख ने इसकी जानकारी देते हुए कहा, संपत्ति कर पालिका की आय का मुख्य स्रोत है। हालांकि, शहर के निवासियों और पेशेवरों जैसे 31 हजार 971 संपत्ति धारकों पर भारी बकाया है। इससे नगर पालिका की राजस्व वृद्धि प्रभावित हो रही है। शहर में तीन लाख से अधिक फ्लैट धारक हैं। आंकड़ों से साफ है कि अभी तक केवल पचास फीसदी फ्लैट धारकों ने ही टैक्स का भुगतान किया है। इनमें 31 मार्च,2022 तक लगभग 35 प्रतिशत फ्लैट धारकों का बकाया है। यानी उन पर दो साल से ज्यादा का बकाया है। पिछले साल सिर्फ 65 फीसदी प्रॉपर्टी मालिकों ने टैक्स का भुगतान किया था। उस वक्त कुल 632 करोड़ रुपये की वसूली हुई थी। इस वर्ष 1000 हजार करोड़ के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए विशेष प्रयास किए जा रहे हैं।

 

192 संपत्तियों की जब्ती की कार्यवाही

कराधान एवं कर संग्रहण विभाग बकाया संपत्ति मालिकों के आंकड़े लगातार जुटा रहा है। डेटा शहर के उन क्षेत्रों से एकत्र किया गया है जहां सबसे अधिक डिफॉल्टर हैं। तदनुसार, 192 संपत्तियों को जब्त कर लिया गया। इनमें से 153 संपत्तियों को जब्त कर सील कर दिया गया। संपत्ति जब्त होते ही 58 संपत्ति मालिकों ने तत्काल 3 करोड़ 58 लाख 71 हजार 339 रुपये कर का भुगतान पालिका के खजाने में कर दिया।

 

फिर जब्त की गई संपत्तियों की सार्वजनिक नीलामी

कई संपत्ति मालिक अपनी बकाया संपत्तियों को जब्त करने के बाद करों का भुगतान कर रहे हैं। हालांकि संपत्ति जब्त करने के बाद भी यह बात सामने आयी है कि कुछ लोग टैक्स नहीं भर रहे हैं। संपत्ति की जब्ती के बाद 21 दिनों के भीतर सहायक आयुक्त नीलेश देशमुख ने गंभीर चेतावनी देते हुए कहा है कि टैक्स नहीं देने वाले संपत्ति मालिकों की आय की नीलामी की जाएगी।

Check Also

हिंजवडी पुलिस ने सेंधमार गिरोह दबोचा,70 तोला सोना जब्त

पिंपरी- हिंजवडी पुलिस ने पिंपरी-चिंचवड़ में घरों में घुसकर चोरी करके गुजरात में चोरी का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *