ताज़ा खबरे
Home / ताज़ा खबरे / भीमाशंकर तीर्थ स्थल के लिए पीएमपी की चौबीसों घंटे बस सेवा

भीमाशंकर तीर्थ स्थल के लिए पीएमपी की चौबीसों घंटे बस सेवा

पुणे-’भीमाशंकर’ भारत के बारह ज्योतिर्लिंगों में छठा ज्योतिर्लिंग है। इसलिए श्रावण मास में भीमा शंकर के दर्शन करने कई भक्त आते हैं। उन सभी श्रद्धालुओं के लिए पीएमपीएमएल की ओर से विशेष सुविधाएं मुहैया कराई गई हैं। श्रावण के महीने में भीमाशंकर के दर्शन के लिए जाने वाले भक्तों की सुविधा के लिए,पीएमपीएमएल ने श्रावण महीने के प्रत्येक रविवार और सोमवार को भीमाशंकर में पार्किंग स्थल से भीमाशंकर मंदिर तक 24 घंटे शटल सेवा प्रदान करने की योजना बनाई है।

 

इस शटल सेवा के लिए पीएमपीएमएल के निगडी डिपो से डीजल पर चलने वाली 12 मिडी बसें उपलब्ध कराई गई हैं। 7 और 8 अगस्त 14,15 और 16 अगस्त और 21 और 22 अगस्त (श्रवण मास के प्रत्येक रविवार और सोमवार) को यह शटल बस सेवा भक्तों के लिए 24 घंटे उपलब्ध रहेगी। चूंकि 14,15 और 16 अगस्त को लगातार छुट्टियां हैं, इसलिए रविवार, सोमवार और मंगलवार को भी शटल सेवा जारी रहेगी।

 

निगडी डिपो से श्रावण मास के प्रत्येक रविवार को प्रातः 4 बजे ये बसें रवाना होंगी और ये सभी बसें सोमवार देर रात निगडी डिपो में वापस आ जाएंगी। मिडी बसों के लिए जरूरी डीजल भीमाशंकर स्थित सर्विस वैन से ही उपलब्ध कराया जाएगा। साथ ही बस में किसी प्रकार की तकनीकी खराबी आने पर तत्काल मरम्मत के लिए उस स्थान पर एक ब्रेक वाली वैन भी उपलब्ध रहेगी।

 

हालांकि, श्रावण के महीने में हर रविवार और सोमवार को भीमाशंकर के दर्शन के लिए जाने वाले भक्तों से अनुरोध है कि वे भीमाशंकर में पार्किंग स्थल से भीमाशंकर मंदिर तक पीएमपीएमएल की इस शटल बस सेवा का लाभ उठाएं। पुणे जिले में प्रत्येक यात्रा के लिए पीएमपीएमएल द्वारा विशेष सेवा प्रदान की जाती है। श्रावण मास वर्षा ऋतु के दौरान होता है और चूंकि मंदिर वन क्षेत्र में है, नागरिक आसानी से दर्शन के लिए नहीं जा सकते हैं, इसलिए पीएमपीएमएल ने यह सेवा प्रदान करने का निर्णय लिया है। आषाढ़ी वारी के दौरान भी भक्तो के लिए पीएमपीएमएल द्वारा विशेष सेवा प्रदान की गई थी।

Check Also

अभय गोंडाने मारपीट कांड़: वाकड पुलिस की भूमिका संदेहास्पद

पिंपरी- पिंपरी चिंचवड़ शहर के द बार हिश्ट् होटल में 26 जुलाई के दिन एक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *